रविवार, 19 नवंबर 2017

आवारगी ने मुझको भी मशहूर कर दिया 
वरना गली के लोग तक पहचानते नहीं |


इस दिल के समंदर में तो डूबे हैं कई लोग 
लेकिन उभर के आता कोई दीखता नहीं |



अंडा आठ रुपये का एक, टमाटर अस्सी रुपये किलो 
कि भैया आये अच्छे दिन, मजा अच्छे दिन का भी लो |



बाथरूम से बैडरूम तक हुआ विकास हमारा है 
तीन बरस का यही दीखता सबसे हसीं नजारा है |